Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

badalte rishte

Just another weblog

64 Posts

3124 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

दीप यूँ ही रोशन रहें!

diwali-2012

जलते है अनगिनत दीपक जग यूँही रोशन रहे,

तम को दलते दीपकों से मन भी ये रोशन रहे/

उजियास बिखरे चहुँ दिशा हर रात यूँ रोशन रहे.

इक रात का ना हो उजाला ताउम्र यूँ रोशन रहे/

.

 तन हो रोशन मन हो रोशन, पर्व ये रोशन रहे,

मन में हो सद्भावना, अब कुछ नहि अनबन रहे/

.

 करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे,

महफूज हो सब नारियाँ और  अस्मतें रोशन रहें/

.

 है यही मन कामना कि हर भ्रष्ट का अब नाश हो,

सत्य का परचम  खिले लहराए फिजां रोशन करे/

.

 बंधू बांधव साथियों संग मने अब ये शुभ दीपावली,

भरत भूमि देश भारत का हर पर्व यूँ ही रोशन रहे/

 

जागरण जंक्शन मंच के सभी सदस्यों को दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं.



Tags: दीप   रोशन  

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

57 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook10Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ajay kumar pandey के द्वारा
20/12/2012

आदरणीय अशोक जी आपके ब्लॉग पर देर से आने के लिए शमा मांगता हूँ आपको नववर्ष की शुभकामनाएं दीपावली की शुभकामनाएं देने का समय नहीं मिला पढाई में व्यस्त था यह तो जानते ही होंगे की पढाई कितनी जरुरी है कृपया मेरे ब्लॉग का भी मूल्याङ्कन करें आपके आशीष के बिना मेरा लेखन सफल नहीं धन्यवाद

ANAND PRAVIN के द्वारा
08/12/2012

आदरणीय अशोक सर, सादर प्रणाम दीपावली की बधाई देने में तो काफी लेट हो चुका हूँ………….किन्तु नए साल की बधाई सर्वप्रथम एडवांस में दिए देता हूँ …………सपरिवार

    akraktale के द्वारा
    13/12/2012

    प्रिय आनंद जी कोई बात नहीं है आपकी शुभकामनाएं सदैव मेरे साथ हैं नव वर्ष की इतनी अग्रिम बधाई भी क्या कम है. आपको भी शुभकामनाएं.

yamunapathak के द्वारा
02/12/2012

आदरणीय अशोक सर नमस्कार यह कविता विलम्ब से पढ़ पाई. बहुत ही सुन्दर भावाभिव्यक्ति है. करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे, महफूज हो सब नारियाँ और अस्मतें रोशन रहें/ यह पंक्तियाँ सर्वाधिक आकर्शुत कर गई . वज़ह पारिवारिक मूल्य और नारी से सम्बंधित पंक्तियाँ सदा मेरा ध्यानाकर्षित करती हैं. साभार

    akraktale के द्वारा
    06/12/2012

    आदरेया यमुना जी                       सादर, आपको दीपोत्सव पर लिखी गयी रचना के भाव पसंद आये जानकार प्रसन्नता हुई. हार्दिक आभार.

Tufail A. Siddequi के द्वारा
27/11/2012

अशोक जी सादर अभिवादन, बहुत ही सुन्दर, गहन भाव लिए इस रचना के लिए बधाई. – तुफैल ए. सिद्दीकी http://siddequi.jagranjunction.com

    akraktale के द्वारा
    06/12/2012

    आदरणीय तुफैल जी                         सादर धन्यवाद!

surendr shukl bhramar5 के द्वारा
24/11/2012

तन हो रोशन मन हो रोशन, पर्व ये रोशन रहे, मन में हो सद्भावना, अब कुछ नहि अनबन रहे/ . करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे, महफूज हो सब नारियाँ और अस्मतें रोशन रहें/ अशोक भाई बहुत सुन्दर ..आप की सारी ये सुन्दर कामनाये फलित हों ..दीवाली के ये दिए हम सब के मन को रोशन कर दें यदि यही हो पाए तो आनंद और आये जय श्री राधे भ्रमर ५

    akraktale के द्वारा
    25/11/2012

    आभार आदरणीय भ्रमर साहब.

अजय यादव के द्वारा
23/11/2012

अशोक सर ,सादर प्रणाम दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएँ ! ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬●ஜ (¯*•๑۩۞۩:♥♥ :| | दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें || ♥♥ :۩۞۩๑•*¯) ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●ஜ बे लौस मोहब्बत हो , बेबाक सदाकत हो ; सीनों में उजाला कर , दिल सूरते-मीना दे Let love be selfless & truth fearless; Let our breasts be lighted ‐Make our hearts clear- crystal.[-इकबाल ]सादर आभार http://avchetnmn.jagranjunction.com/

    akraktale के द्वारा
    25/11/2012

    आभार आदरणीय अजय जी.

yogi sarswat के द्वारा
23/11/2012

श्री अशोक रक्ताले जी सादर नमस्कार ! भरत भूमि देश भारत का हर पर्व यूँ ही रोशन रहे, तन हो रोशन मन हो रोशन, पर्व ये रोशन रहे, मन में हो सद्भावना, अब कुछ नहि अनबन रहे/ मन का दीपक यूँ ही जलता रहे ! देर से आपके ब्लॉग तक आने के लिए क्षमा चाहूँगा ! बहुत सुन्दर रचना के लिए बधाई

    akraktale के द्वारा
    25/11/2012

    सादर धन्यवाद. आदरणीय योगी जी.

satish3840 के द्वारा
23/11/2012

अशोक जी सादर सचमुच बहुत ही अच्छी देश व् उसके नागरिकों को रोशन करती दीवाली को रोशन करती प्रस्तुती

    akraktale के द्वारा
    25/11/2012

    आदरणीय सतीश जी सादर धन्यवाद.

Malik Parveen के द्वारा
22/11/2012

आदरणीय अशोक जी , बहुत सुंदर प्रस्तुति …….. जो भ्रष्टाचार का अन्धकार देश को घेरे हुए है बस वो समाप्त हो जाये और फिर से हमारा देश स्वर्णिम हो चमके …. बधाई !!

    akraktale के द्वारा
    22/11/2012

    प्रवीण जी              सादर, बस यही मेरी भी कामनाएं है भारत देश पूरी दुनिया में आपना नाम और अधिक रोशन करे. धन्यवाद.

vinitashukla के द्वारा
22/11/2012

सुंदर और प्रासंगिक कविता. बधाई अशोक जी.

    akraktale के द्वारा
    22/11/2012

    विनीता जी           सादर आभार.

Lahar के द्वारा
20/11/2012

प्रिय अशोक जी सप्रेम नमस्कार बेहद खुबसूरत कविता | आपको तथा आपके परिवार के समस्त सदस्यों को दीप पर्व दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ ।

    akraktale के द्वारा
    22/11/2012

    आदरणीय लहर जी                        सादर, धन्यवाद आपको भी शुभकामनाएं.

rajanidurgesh के द्वारा
18/11/2012

अशोकजी सादर नमस्कार भरत भूमि देश भारत का हर पर्व यूँ ही रोशन रहे, अशोकजी की लेखनी और बिचार यूँ ही रोशन रहे. बंधू-बांधव साथियों के संग मन सदा रोशन रहे.

    akraktale के द्वारा
    18/11/2012

    आदरेया रजनी जी                     सादर, आपकी रचना को विस्तार देती दोनों पंक्तियों का स्वागत है. मेरी तो यही कामना है कि आप और पूरा ही देश उल्लासपूर्वक हर त्यौहार मनाये. आपका हार्दिक आभार.

Sushma Gupta के द्वारा
17/11/2012

जलते है अनगिनत दीपक जग यूँही रोशन रहे, तम को दलते दीपकों से मन भी ये रोशन रहे| अशोक जी, आपकी इस अभूतपूर्व अति सुन्दर रचना को कई बार पढ़ा है…बहुत बधाई ……..

    akraktale के द्वारा
    18/11/2012

    आदरेया सुषमा जी                    सादर, आपकी सुन्दरतम प्रतिक्रया ने ऋणी बना दिया है.बहुत बहुत धन्यवाद.

Acharya Vijay Gunjan के द्वारा
17/11/2012

भारत भूमि देश भारत का हर पर्व यूं ही रोशन रहे !…… मंगल कानाओं व भावनाओं से भरी इस ग़ज़ल के लिए आप को हार्दिक आभार ! रक्तले जी , नस्तुभ्यम !

    akraktale के द्वारा
    18/11/2012

    आदरणीय आचार्य जी                       सादर, आपको रचना में प्रेषित भावनाएँ उत्तम लगी जानकार प्रसन्नता हुई. आभार.

phoolsingh के द्वारा
16/11/2012

अशोक जी नमस्कार सुंदर कामना के साथ पिरोही गई रचना के लिए बधाई…….. फूल सिंह

    akraktale के द्वारा
    16/11/2012

    आभार आदरणीय फूलसिंह जी.

15/11/2012

अशोक भाई नमस्कार !  बहुत सुंदर कामना की है समाज और देश के लिए इस दीप गीत के माध्यम से। आपको भी दीप पर्व ही हार्दिक शुभ कामनाएँ !  ऐसे ही सुंदर गीतों से से इस उपवन को महकाते रहें !  जय हिन्द !

    akraktale के द्वारा
    16/11/2012

    आदरणीय डॉ. सुर्याबाली जी सादर, आभार सराहना के लिए. दीप पर्व आपको सपरिवार मंगलमय हो.

krishnashri के द्वारा
14/11/2012

आदरणीय रक्ताले जी , सादर , बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति , दीप पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामना .

    akraktale के द्वारा
    16/11/2012

    आदरणीय श्री कृष्णाश्री जी सादर, आभार, आपको भी सपरिवार दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

sumandubey के द्वारा
14/11/2012

अशोक भाई बहुत अच्छी लाइने–उजियास बिखरे चहुँ दिशा हर रात यूँ रोशन रहे. इक रात का ना हो उजाला ताउम्र यूँ रोशन रहे/ . तन हो रोशन मन हो रोशन, पर्व ये रोशन रहे, मन में हो सद्भावना, अब कुछ नहि अनबन रहे/ .अनभूति पर आपका सवैया पढ़ा इसी नाम से क्या आप ही है करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे, महफूज हो सब नारियाँ और अस्मतें रोशन रहें/

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरेया सुमन जी सादर, आपको रचना कि सदैव शान्ति और सद्भाव को कायम रहने की कामना करती पंक्तिया अच्छी लगी जानकार प्रसन्नता हुई. आभार. बहन जी आपने “अनुभूति” पर भी सवैया छंद पढ़ा उसका भी शुक्रिया. अशोक रक्ताले मेरा ही नाम है और इसी नाम से मै अन्य पत्रिकाओं में लिखने का प्रयास करता हूँ. आपका पुनः आभार और दीपावली पर्व कि सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएं.

shashibhushan1959 के द्वारा
14/11/2012

आदरणीय अशोक भाई, सादर ! बहुत बहुत सुन्दर रचना ! “” करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे, महफूज हो सब नारियाँ और अस्मतें रोशन रहें !”" बेहतरीन भावाभिव्यक्ति ! गागर में सागर ! दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं !

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय शशिभूषण जी सादर, आपसे सराहना पाकर मन प्रसन्न हुआ. आपको भी सपरिवार दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

PRADEEP KUSHWAHA के द्वारा
14/11/2012

उजियास बिखरे चहुँ दिशा हर रात यूँ रोशन रहे. इक रात का ना हो उजाला ताउम्र यूँ रोशन रहे/ adarniya अशोक जी, सादर अभिवादन वाह खूब आनंद आ गया . शुभ दीपावली

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय प्रदीप जी सादर, आपके उत्साहवर्धन करने का शुक्रिया. आपको दीपावली कि सपरिवार हार्दिक शुभ कामनाएं.

seemakanwal के द्वारा
13/11/2012

बेहद सुन्दर रचना .आभार . शुभ दीपावली .

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरेया सीमा जी सादर, बहुत बहुत धन्यवाद. आपको भी दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

bebakvichar, KP Singh (Bhind) के द्वारा
13/11/2012

रक्तलेजी.. दीपपर्व की शुभकामनाएँ… है यही मन कामना कि हर भ्रष्ट का अब नाश हो, सत्य का परचम खिले लहराए फिजां रोशन करे/ आपकी यह सोच साकार हो…इन्हीं शुभकामनाओं के साथ…..

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय सिंह साहब सादर, आपके समर्थन के लिए आभार. आपको भी दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

kpsinghorai के द्वारा
13/11/2012

बंधू बांधव साथियों संग मने अब ये शुभ दीपावली, भरत भूमि देश भारत का हर पर्व यूँ ही रोशन रहे/ रक्तलेजी, अत्यंत सुंदर, आपकी कामना सदैव पूर्ण रहे…….

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय के.पी. सिंह साहब सादर, रचना कि सराहना के लिए आभार. आपको दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

omdikshit के द्वारा
13/11/2012

आदरणीय अशोक जी, बहुत सुन्दर पंक्तियाँ. शुभ-दीपावली.

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय दीक्षित साहब सादर, आभार. आपको भी दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

bhanuprakashsharma के द्वारा
13/11/2012

करते सदा जो घर को रोशन वृद्ध वह रोशन रहे, महफूज हो सब नारियाँ और अस्मतें रोशन रहें/ आदरणीय अशोक जी, सुंदर अभिव्यक्ति के लिए आभार। 

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय भानुप्रकाश जी सादर, धन्यवाद. आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.

Rajesh Dubey के द्वारा
13/11/2012

दीपावली में सबका घर रौशन रहे, भ्रष्टाचार रूपी कालिमा ख़त्म हो जाये, तन-मन रौशन हो की आपकी कामना का स्वागत है. दीपावली मंगलमय हो.

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय राजेश जी भाई सादर, धन्यवाद! आपको भी सपरिवार दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

jlsingh के द्वारा
13/11/2012

तन हो रोशन मन हो रोशन, पर्व ये रोशन रहे, मन में हो सद्भावना, अब कुछ नहि अनबन रहे/ आदरणीय अशोक भाई जी, सादर अभिवादन! दीपपर्व की शुभकामनाओं के साथ यही कामना है कि आपकी और हमारी यह इच्छा पूर्ण हो जाए….

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय जवाहर जी भाई सादर, आभार आपका. दीपपर्व पर आपको भी बहुत बहुत शुभकामनाएँ.

bharodiya के द्वारा
13/11/2012

दिवाली और नये साल के लिए शुभ कामना है, अशोकभाई ।

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरणीय भरोडिया भाई जी सादर, आपको भी दीपावली कि हार्दिक शुभकामनाएं.

alkargupta1 के द्वारा
12/11/2012

आदरणीय अशोक जी , दीपोत्सव के साथ आपकी मनोकामना पूर्ण हो …. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

    akraktale के द्वारा
    14/11/2012

    आदरेया अलका जी                        सादर, आपको भी सपरिवार दीपोत्सव दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित